सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का उल्लंघन करने पर अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर कार्रवाई का किया आग्रह………

वाशिंगटन । अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) से उत्तर कोरिया की भड़काऊ कार्रवाइयों के लिए उसे जवाबदेह ठहराने का आह्वान किया। संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत लिंडा थॉमस-ग्रीनफील्ड ने अडिय़ल देश पर यूएनएससी प्रतिबंधों को पूरी तरह से लागू करने के महत्व पर जोर दिया। न्यूयॉर्क में आयोजित सुरक्षा परिषद की आपात बैठक में अमेरिकी राजनयिक ने कहा कि उत्तर कोरिया ने सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का खुलेआम उल्लंघन करते हुए में घातक हथियारों का परीक्षण जारी रखा है। इसलिए उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षणों की निंदा करता है।

यूएनएससी की हुई बैठक में उत्तर कोरिया को जिम्मेदार ठहराने या उसके लगातार उकसावे को रोकने के संभावित उपायों पर विशेष रूप से चर्चा की गई।
थॉमस-ग्रीनफील्ड ने कहा कि यूएनएससी प्रस्तावों का प्योंगयांग द्वारा किए जा रहे बार-बार उल्लंघन को सही ठहराने के लिए बीजिंग और मॉस्को ने सुरक्षा परिषद का मजाक उड़ाया है। उन्होंने कहा कि मैं परिषद के सभी सदस्यों को उनकी जिम्मेदारी की याद दिलाना चाहती हूं।
थॉमस-ग्रीनफील्ड ने उत्तर कोरिया के मिसाइल प्रक्षेपणों का जिक्र करते हुए कहा, संयुक्त राष्ट्र के एक सदस्य देश का सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का खुले तौर पर उल्लंघन करना और इस इस मुद्दे पर परिषद की चुप्पी भयावह है। चीन व रूस ने अमेरिका व दक्षिण कोरिया पर उत्तर कोरिया को मिसाइल प्रक्षेपण के लिए उकसाने का आरोप लगाया है।

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment