भारतीय क्रिकेट को इंग्लैंड से सीखना चाहिये : वॉन

 

लंदन । इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर माइकल वॉन ने भारतीय क्रिकेट प्रशासन को नसीहत देते हुए कहा है कि अगर भारतीय क्रिकेट की कमान उनके हाथ में होती तो वह अपना अभिमान निगलकर टी20 विश्व चैंपियन इंग्लैंड से सीख लेते।
सीमित ओवर क्रिकेट खेलने वाले इंग्लैंड के खिलाडिय़ों का समूह अद्भुत है, और आखिरकार इंग्लिश क्रिकेट के पास ऐसी टीम है जो दुनिया की दूसरी टीमों को राह दिखा सकती है। इंग्लैंड अपने काम-काज कैसे संभाल रहा है? वह ऐसा क्या करते हैं? अगर भारतीय क्रिकेट की कमान मेरे हाथ में होती तो मैं अपना अभिमान निगल जाता और प्रेरणा के लिये इंग्लैंड की ओर देखता।
इंग्लैंड ने जॉस बटलर की अगुवाई में टी20 विश्व कप 2022 का खिताब जीत लिया। मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेले गए फाइनल में पाकिस्तान ने इंग्लैंड को 138 रन का लक्ष्य दिया था, जिसे बटलर की टीम ने पांच विकेट गंवाकर 19 ओवर में हासिल कर लिया।
बीते कुछ वर्षों में सीमित ओवर क्रिकेट में इंग्लैंड का प्रदर्शन शानदार रहा है और उन्होंने ऑयन मॉर्गन की अगुवाई में एकदिवसीय विश्व कप 2019 भी जीता था।
वॉन ने कहा, इंग्लैंड को विश्व कप जीतने चाहिये क्योंकि उनके पास सर्वश्रेष्ठ टीम है, लेकिन हम कई बार अच्छी टीमों को उनके कद के अनुसार खेलता हुआ नहीं देखते। विश्व कप 2019 के फाइनल में भी, इंग्लैंड को भाग्य का थोड़ा साथ मिला था और यहां भी। वह भाग्यशाली होने के हकदार हैं, क्योंकि उन्होंने एक शैली को अपनाकर लंबे समय तक सही दिशा में काम किया है।
उन्होंने कहा,साल 2019 में भी वह टूर्नामेंट की शुरुआत में पाकिस्तान और श्रीलंका से हार गये थे। यहां वे आयरलैंड से हारे। दोनों बार उनका सफर शुरू में ही खत्म हो सकता था, लेकिन उनकी मानसिकता उन्हें तब जीतना सिखाती है जब जरूरी हो। उनके पास बड़े मैच के खिलाड़ी हैं।
वॉन ने यह भी कहा कि धोनी की तरह बटलर भी लंबे समय तक कप्तान बने रह सकते हैं और एक विरासत बना सकते हैं।
उन्होंने कहा, जॉस बटलर ने पहली बार में ही विश्व कप जीत लिया है और 32 साल की उम्र में उनके पास अपनी विरासत बनाने का मौका है। महेंद्र सिंह धोनी भारत के कप्तान के रूप में वर्षों तक बने रहे। बटलर ऐसा कर सकते हैं, खासकर अब वह एक ही (टी20) प्रारूप पर ध्यान दे रहे हैं। जब आपके पास बाएं हाथ का तेज गेंदबाज, गति, स्विंग और स्पिन, तीन स्पिनर हों तो कप्तान के रूप में आपके पास सब कुछ होता है। यह मेरे लिए सीमित ओवर क्रिकेट का मानदंड है। आपके पास विकल्प होने चाहिए। उनके पास सभी खिलाड़ी मैच जिताने की क्षमता रखते हैं।

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment