संदिग्ध परिस्थितियों में मिला शिक्षक का शव,निष्पक्ष जांच कर दोषियों पर कार्यवाही की मांग…

रामानुजगंज। रामचंद्रपुर विकासखंड के ग्राम पंचायत कृष्णनगर धमनी के शिक्षक का 20 दिन पूर्व गांव के तालाब में संदिग्ध परिस्थितियों में शव मिला था। घटना के बाद से ही परिजनों के द्वारा हत्या की जाने का आरोप गांव के कुछ लोगों पर लगाए जा रहा था। वही मृतक शिक्षक की पत्नी के द्वारा पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौप मामले की निष्पक्ष जांच कराते हुए दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही की मांग की है।
गौरतलब है कि 24 अक्टूबर दीपावली के रात 9:30 बजे से शिक्षक रामदेव राम सरुता अपने मोहल्ला में ही दोहा खेलने के नाम से निकले हुए थे जिसके बाद वह देर रात तक घर नहीं आए तो परिजन सोचे कि सुबह में आ जाएंगे परंतु जब सुबह भी नहीं आए तो परिजनों की बेचैनी बढ़ने लगी जिसके बाद खोजना प्रारंभ किया। घर से निकलने के तीसरे दिन 26 अक्टूबर को की सुबह उनका पुत्र राकेश कुमार सरुता पिता को खोजने के दौरान गांव के कुम्हिया पारा तालाब में पिता का शव देखा जिसके बाद तत्काल इसकी सूचना त्रिकुंडा थाना में दी। घटना पर पुलिस के द्वारा मर्ग कायम कर शव का पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिया गया था परिजनों ने आरोप लगाया था कि हत्या की गई है। मृतिका की पत्नी पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा गांव के कुछ लोगों का नाम इंगित करते हुए हत्या किए जाने की आशंका व्यक्त करते हुए जांच कर निष्पक्ष कार्रवाई की मांग की है।
पिता थे अच्छे तैराक डूबने से नहीं हो सकती है मौत पुत्र…
मृतक रामदेव राम के पुत्र राकेश कुमार सरुता ने कहा कि मेरे पिता अच्छे तैराक थे उनकी कभी डूबने से मौत नहीं हो सकती है। जिस तालाब में उनकी मृत्यु हुई है वहां पानी भी उतना गहरा नहीं था जहां वे डूब सके। गांव के सभी लोग जानते हैं कि मेरे पिता अच्छे तैराक थे।
जमीन की रंजिश के चलते हुआ है पति का हत्या….
मृतिका की पत्नी ने आरोप लगाया कि गांव के ही कुछ लोगों से मेरी पति की जमीन की रंजिश थी जिनके द्वारा हत्या की गई है मृतिका की पत्नी ने नामजद शिकायत पुलिस अधीक्षक से की है मृतका की पत्नी ने कहा कि जब मैं शिकायत करने जा रही थी यह बात उन लोगों को पता चली तो नहीं जाने के लिए दबाव भी बना रहे थे।
मामले की निष्पक्ष जांच बृहस्पत सिंह ….
इस संबंध में परिजन जब विधायक बृहस्पत सिंह से मिलने पहुंचे तो बृहस्पत सिंह ने भी मामले को बहुत गंभीर बताया कहा कि यदि परिजन ऐसा आरोप लगा रहे हैं तो इसकी निष्पक्ष जांच की जानी चाहिए एवं दोषियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment