गेटमैन ने बंद नहीं किया फाटक,ट्रेन से टकराकर लोडर के परखच्चे उड़े,दो लोगों की मौत

बेटों का शव देखकर बेहाल हुए दोनों पिता, दोषियों पर होगी कार्रवाई
कानपुर देहात । कानपुर-झांसी रेल रूट पर गेटमैन की लापरवाही से बड़ा हादसा हो गया। जल्लापुर क्रॉसिंग पर गेटमैन ने फाटक बंद नहीं किया और ट्रैक क्रॉस कर रहा लोडर अचानक आई ट्रेन की चपेट में आ गया। हादसे में लोडर के परखच्चे उड़ गए और उसमें सवार दो लोगों की मौत हो गई। वहीं पोल से टकराए लोडर की वजह से ओएचई लाइन का इंसुलेटर क्षतिग्रस्त हो गया। इससे चार घंटे तक रेल यातायात बाधित रहा।
स्वरूपपुर गांव के विष्णु (20) और कृष्णा (22) लोडर लेकर बुधवार देर रात करीब एक बजे अमौली गए थे। गुरुवार सुबह दोनों लोडर से वापस गांव लौट रहे थे। कानपुर-झांसी रेल रूट पर जल्लापुर क्रॉसिंग खुली होने पर वह ट्रैक क्रॉस कर रहे थे। इस बीच अचानक लखनऊ से गुजरात जा रही गांधीनगर एक्सप्रेस ट्रेन आ गई और चपेट में आए लोडर के परखच्चे उड़ गए। लोडर सवार दोनों युवकों की मौके पर ही मौत हो गई।
वहीं टक्कर लगते ही लोडर ओएचई पोल से टकराया, जिससे इंसुलेटर क्षतिग्रस्त होने से आपूर्ति बाधित हो गई। इससे रूट पर रेल यातायात बाधित हो गया। रेल रूट पर कानपुर की ओर चार ट्रेनों को तत्काल रोका गया। इसमें मुंबई एक्सप्रेस, लखनऊ-इंदौर एक्सप्रेस को रोक दिया गया। जानकारी मिलते ही रेलवे अफसरों में खलबली मच गई और तकनीकी टीम मौके पर पहुंच गई।
गेटमैन पर कार्रवाई की मांग
हादसे के बाद पहुंचे ग्रामीणों ने रेलवे पर लापरवाही का आरोप लगाया। उनका कहना था कि रात में गेटमैन ने फाटक बंद नहीं किया था, जिससे हादसा हो गया। अगर गेटमैन ने फाटक बंद कर दिया होता तो शायद दोनों की जान बच जाती, गनीमत रही कि लोडर में टक्कर मारने के बाद ट्रेन बेपटरी नहीं हुई वरना बड़ा हादसा हो सकता था। वहीं ग्रामीणों ने एक सवाल और उठाया कि जब फाटक बंद नहीं था तो रेड सिग्नल रहने पर ट्रेन क्यों नहीं रुकी। ग्रामीणों ने रेलवे अफसरों को मौके पर बुलाने की मांग करते हुए गेटमैन पर कार्रवाई की मांग की। मौके पर पहुंचे दोनों के पिता जसवंत और रामप्रकाश अपने बेटों का शव देखकर बेहाल हो गए।
बाधित रहा रेल यातायात
रात करीब दो बजे हादसा होने के बाद रेल यातायात बाधित हो गया। देर रात ही रेलवे की तकनीकी टीम पहुंच गई और मरम्मत कार्य शुरू कर दिया। गुरुवार सुबह करीब छह बजे तक ओएचई लाइन दुरुस्त हो सकी और रेल यातायात बहाल हुआ। झांसी डीआरएम आशुतोष कुमार ने बताया कि घटना की जांच कराकर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment