श्रद्धा हत्याकांड के आरोपी आफताब नारको टेस्ट करवाने को तैयार

 

नई दिल्ली । राजधानी दिल्ली में श्रद्धा हत्याकांड दिल्ली पुलिस के लिए सर दर्द बनी हुई है क्योंकि श्रद्धा हत्याकांड मामले में पुलिस तफ्तीश में जुटी है। वहीं आरोपी आफताब के जवाब पुलिस को उलझाने का काम कर रहे हैं। इस बीच साकेत कोर्ट ने आरोपी आफताब का नारको टेस्ट कराने का आदेश दिया है। आफताब से अदालत में जब पूछा गया कि वो नारको टेस्ट करवाने के लिए तैयार हो तो आफताब ने कहा कि कि मैं नारकोटिस करवाने के लिए तैयार हूं।साकेत कोर्ट ने रोहिणी फॉरेंसिक साइंस लैब को 5 दिन के अंदर नारकोटिक्स करने का आदेश दिया है, इस दौरान अदालत ने यह भी आदेश दिए हैं कि आरोपी आफताब पर थर्ड डिग्री का इस्तेमाल ना किया जाए। हालांकि जब भी किसी आरोपी का नारको टेस्ट करवाया जाता है, तब उसकी रजामंदी भी जरूरी होती है. इसी वजह से कोर्ट में उसकी सहमति से संबंधित सवाल पूछा गया था। दिल्ली पुलिस आरोपी आफताब अमीन पूनावाला का ‘नार्को टेस्ट’ कराना चाहती थी, जिसके बाद कोर्ट ने इसके लिए मंजूरी दी थी। दिल्ली एफएसएल के सूत्रों के मुताबिक आफ़ताब का नार्को टेस्ट अगले हफ्ते हो सकता है।

वहीं दिल्ली पुलिस की एक टीम गुरुग्राम में उस निजी फर्म के कार्यालय पहुंची, जहां श्रद्धा वॉकर की हत्या का आरोपी आफताब अमीन पूनावाला काम करता था। पुलिस को तलाशी अभियान के बाद कार्यालय के आसपास झाड़ियों से बरामद चीजों से भरा एक प्लास्टिक बैग ले जाते देखा गया। हालांकि, अधिकारियों ने बैग में क्या है, इसका खुलासा नहीं किया। उन्होंने बताया कि आरोपी और वॉकर के मुंबई से राष्ट्रीय राजधानी में आने के बाद से वह एक निजी फर्म में काम करता था। पुलिस के अनुसार पूनावाला ने अपनी ‘लिव-इन पार्टनर’ श्रद्धा वॉकर (27) की गत 18 मई की शाम को कथित तौर पर गला घोंट कर हत्या कर दी थी और उसके शव के 35 टुकड़े कर दिए, जिन्हें उसने दक्षिण दिल्ली के महरौली में अपने आवास पर लगभग तीन सप्ताह तक 300 लीटर के फ्रिज में रखा और कई दिनों तक विभिन्न हिस्सों में फेंकता रहा। पुलिस अब तक शव के 13 टुकड़े बरामद कर चुकी है, जिनमें ज्यादातर हड्डियां हैं। दिल्ली पुलिस की एक टीम जांच के संबंध में सुबूत इकट्ठा करने के लिए शुक्रवार को गुरुग्राम पहुंची। उन्होंने बताया कि आरोपी के कार्यालय परिसर में यह पता लगाने के लिए भी तलाशी ली गई कि क्या उसने श्रद्धा के क्षत-विक्षत शव के टुकड़ों, हथियार या मामले से संबंधित कुछ भी सामान आसपास के क्षेत्रों में फेंका था, जो जांच में महत्वपूर्ण साबित हो सकता है।पूनावाला को अगले कुछ दिन में मामले की जांच के सिलसिले में हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और अन्य स्थानों पर ले जाया जाएगा. दिल्ली की एक अदालत ने पूनावाला की पुलिस हिरासत की अवधि बृहस्पतिवार को पांच दिन और बढ़ा दी थी। मुंबई से आने के बाद वॉकर और पूनावाला ने कई जगहों की यात्रा की थी। पुलिस पूनावाला के साथ इन जगहों पर जायेगी ताकि यह पता लगाया जा सके कि इन यात्राओं के दौरान तो उनके बीच कुछ ऐसा घटित नहीं हुआ था, जिसके बाद हत्या को अंजाम दिया गया हो

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment