BJP महासचिव BL संतोष को SIT का समन, विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले में पूछताछ के लिए बुलाया

 

हैदराबाद : तेलंगाना में टीआरएस विधायकों की खरीद-फरोख्त का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। मामले की जांच कर रही SIT ने अब भाजपा नेता बीएल संतोष को तलब किया है। जांच एजेंसी ने उन्हें 21 नवंबर को पुलिस थाने में पेश होने के लिए कहा है। रिपोर्ट के मुताबिक, अगर संतोष पेश नहीं होते हैं तो उन्हें गिरफ्तार भी किया जा सकता है। मालूम हो कि बीएल संतोष भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव भी हैं।

TRS सरकार ने 9 नवंबर को इस मामले की जांच के लिए 7 सदस्यीय विशेष जांच दल गठित करने का आदेश दिया था। बीते मंगलवार को तेलंगाना हाई कोर्ट ने कहा था कि विधायकों की खरीद-फरोख्त मामले को लेकर एसआईटी जांच जारी रहेगी। चीफ जस्टिस उज्ज्वल भुइयां और जस्टिस सी. वी. भास्कर रेड्डी की खंडपीठ ने यह फैसला सुनाया। अदालत ने कहा कि जांच के दौरान एकत्र की गई सामग्री को चुनिंदा आधार पर लीक नहीं किया जाएगा। दरअसल भाजपा ने पूरे मामले की सीबीआई से जांच की अपील की थी।

हाल ही में टीआरएस के उन चार विधायकों ने अज्ञात लोगों से धमकी भरे फोन आने की शिकायत की थी जिन्हें पार्टी छोड़ने और भाजपा में शामिल होने के लिए कथित तौर पर धन का प्रलोभन दिया गया था। इन चार विधायकों में पायलट रोहित रेड्डी, बी हर्षवर्धन रेड्डी, रेगा कांथा राव और गुव्वाला बलराजू शामिल हैं। इन विधायकों का दावा है कि उन्हें अज्ञात लोगों ने धमकी दी है।

विधायकों को प्रलोभन देने के मामले में दर्ज FIR की कॉपी के अनुसार, रोहित रेड्डी ने आरोप लगाया कि उन्हें 100 करोड़ रुपये की पेशकश की गई और बदले में टीआरएस छोड़ने के लिए कहा गया। इसके अलावा उनको अगले विधानसभा चुनाव में भाजपा उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ने के लिए भी कहा गया। वहीं, तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर ने दावा किया था कि उनकी पार्टी के चार विधायकों को दिल्ली के ब्रोकरों ने खरीदने की कोशिश की, लेकिन हमें कोई तोड़ नहीं सकता है।

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment