मेडिकल में प्रवेश का वादा कर वैज्ञानिक से ठगे 18 लाख

 

बेंगलुरू । बेंगलुरू में एक शख्स द्वारा इसरो के वैज्ञानिक को उसकी बेटी के लिए मेडिकल सीट दिलाने का वादा कर 18 लाख रुपये ठगने का मामला सामने आया है। बेंगलुरु की उप्पेरपेट पुलिस ने इस सिलसिले में मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार, ठगी के शिकार 48 वर्षीय चिदानंद शिवप्पा मुगदुम, इसरो के साथ काम करने वाले वैज्ञानिक और मुंबई में सीजीएस कॉलोनी के निवासी हैं।
ठगी करने वाले की पहचान अरुण दास के रूप में हुई है। पुलिस ने बताया कि वैज्ञानिक चिदानंद की बेटी एमबीबीएस की तैयारी कर रही है। दो महीने पहले आरोपी ने एक फोन कॉल के जरिए वैज्ञानिक से संपर्क किया और उसकी बेटी का बेंगलुरु में मेडिकल में एडमिशन दिलाने का वादा किया।
आरोपी अरुण दास दो बार वैज्ञानिक के घर भी गया और उसकी बेटी के शैक्षिक दस्तावेजों का सत्यापन किया था। पुलिस ने कहा कि उसने बेंगलुरू में बीजीएस ग्लोबल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में एडमिशन कराने का वादा किया था।
उसने 10 लाख कॉलेज फीस और 18 लाख रुपए डोनेशन की मांग की थी और पैसे लेकर बेंगलुरू आने को कहा था। वैज्ञानिक उसके जाल में फंसकर 12 नवंबर को अपनी बेटी और एक रिश्तेदार के साथ पैसे लेकर बेंगलुरु पहुंचे।
मुलाकात के बाद अरुण दास ने उनसे 18 लाख रुपए ले लिए। आरोपी पैसे लेकर यह कहकर चला गया था कि वह ट्रस्ट के बैंक खाते में डोनेशन की राशि जमा करा देगा और दाखिले के लिए वापस आ जाएगा।
जब आरोपी वापस नहीं लौटा तो पीडि़त ने उसे फोन करने की कोशिश की लेकिन उसका फोन स्विच ऑफ था। बाद में उन्हें ठगी का एहसास हुआ तो पुलिस से संपर्क किया।

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment