छात्रावास में छात्राओं को पहनाई जूतों की माला! मचा भारी बवाल

बैतूल। मध्य प्रदेश के बैतूल जिले के आदिवासी कन्या आश्रम में बालिकाओं पर चार सौ रुपये चोरी करने का आरोप लगाते हुए जूतों की माला पहनाकर और मुंह में कालिख पोतकर छात्रावास परिसर में घुमाने का मामला सामने आया है। बाद में परिजनों के विरोध पर छात्रावास अधीक्षक ने माफी मांगी। मामला जिला प्रशासन तक पहुंचा है और जांच के लिए समिति बनाई गई है। यह समाज को शर्मसार करने वाला मामला दामजीपुरा में संचालित आदिम जाति कल्याण विभाग के कस्तूरबा गांधी कन्या छात्रावास का है। यहां की छात्रावास अधीक्षक ने छात्राओं पर चार सौ रुपए चोरी करने का आरोप लगाकर पहले उन्हें जूते की माला पहनाकर पूरे छात्रावास परिसर में घुमाया और उसके बाद छात्राओं के बाल खोलकर, पाऊडर, कालिख, लिपिस्टिक गलत तरीके से लगाकर भूत बनाकर नचाया भी। छात्रावास में बच्चियों के साथ दुर्व्यवहार की बात सामने आने पर कोरकू समाज संगठन और बालिका के परिजन कलेक्ट्रेट पहुंचे और जब कलेक्टर अमनबीर सिंह बैंस से पूरे मामले की शिकायत की तो उन्होंने इस घटना को गंभीर बताते हुए सख्त कार्रवाई का भरोसा दिलाया।  उन्होंने कहा कि अगर इस तरह की घटना हुई है तो वह संबंधित कर्मचारी को तुरंत निलंबित करेंगे। उन्होंने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं। इधर, कोरकू समाज संगठन ने चेतावनी दी है कि अगर इस मामले में जल्द कार्रवाई नहीं की गई तो संगठन आंदोलन करेगा। आदिवासी कन्या आश्रम दामजीपुरा (भीमपुर) की अधीक्षिका के विरूद्ध प्राप्त शिकायत की जांच हेतु दल गठित किया गया है। जांच की कार्यवाही प्रक्रियाधीन होने एवं जांच प्रभावित न हो इसे दृष्टिगत रखते हुए सुनीता उईके अधीक्षिका व प्राथमिक शिक्षक आदिवासी कन्या आश्रम दामजीपुरा को अधीक्षिका के प्रभार से मुक्त कर दिया गया है।

mithlabra
Author: mithlabra