लॉकडाउन की कोरी अफ़वाह के बीच गुड़ाखू की काला बाज़ारी शुरू

-शहर के किसी भी दुकान में गुड़ाखू का स्टॉक नही
-पांच रुपए का गुड़ाखू बीस रुपए में बिक रहा
-कोरोना को लेकर प्रशासन की गाईडलाइन अब तक नही हुई जारी
-लोगो मे लॉकडाउन को लेकर संशय
कांकेर,(अभय शर्मा)। चीन में आए भयावह कोरोना के नए संक्रमण को लेकर अलर्ट जारी किया जा रहा है। इस बीच कांकेर जिले में कोरोना संक्रमण में फिर लॉकडाउन की कोरी अफवाह के बीच बीते दो दिनो से कांकेर मुख्यालय में फिर एक बार जमाखोरी शुरू की चर्चा शुरू हो चुकी है। फिर एक बार आपदा को अवसर में बदलने शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में गुड़ाखू महंगे दामों में बिकने की जानकारी मिली है। इतना ही नहीं शहर के कुछ दुकान में भी गुड़ाखू नही होने की जानकारी मिली है।
वर्ष २०२० -२१ में कोविड १९ वायरस संक्रमण को लेकर जमकर जमाखोरी कर मुनाफा कमाया जा रहा था।
जिस् पर तत्कालीन कलेक्टर ने टीम गठित कर जमाखोरों पर ताबड़तोड़ कार्यवाही कर लोगो को बड़ी राहत पहुंचाई थी।
अब पुनः कोरोना वायरस संक्रमण और लॉक डाउन की कोरी अफवाह के बीच जमाखोरी शुरू होने से आमजनो में आक्रोश साफ देखा जा सकता है।
बता दे कि शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में गुड़ाखू बहुत लोग इसे मंजन के रूप में करते हैं।और गुड़ाखू गांव ही नहीं शहर में भी बड़ी संख्या में लोग मंजन के रूप में इस्तेमाल किया करते है।
एक गुड़ाखू की कीमत पांच रुपए के आसपास है लेकिन जमाखोरी के चलते पांच रुपए का गुड़ाखू की कीमत पंद्रह से बीस रपए तक शहर सहित ग्रामीण इलाकों में बिक रहा है।
जिससे गांव के लोगो में आक्रोश साफ देखा जा सकता है।
कोरोना को लेकर प्रशासन
सतर्क लेकिन लॉकडाउन
की अफवाह पर कोई सुध नहीं
कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते ज़िला प्रशासन ने अब तक कोई दिशा निर्देश जारी नही किया है। इधर लॉक डाउन की कोरी अफवाह के बाद
आपदा को अवसर में बदलते जमाखोरी शुरू हो चुकी है। किराने से संबंधित चीजो पर इसका सीधे असर होता है। जिसके चलते गरीब परिवार की मुसीबत बढ़ जाती है।इस विपदा से निपटने प्रशानिक स्तर पर कोई सुध नहीं लिया गया है। समय रहते प्रशासन कालाबाज़ार करने वालो पर नकेल नही कस पाएगी तो आने वाले समय में आपदा को अवसर बनाने वालो को बल मिलने से इंकार नहीं किया जा सकता है।
कोरोना संक्रमण और कालाबाज़ारी रोकने प्रशासन की कितनी तैयारी
बता दें कि विदेशों में कोटोना संक्रमण को लेकर भारत में अलर्ट जारी किया गया है। लेकिन क्या क्या गाइड लाइन कोरोना संक्रमण के लिए जारी किया गया है। तथा आने वाले समय में क्या लॉक डाउन की स्थिती है। इन तमाम बातों को लेकर लोग असमजस की स्थिति बनी हुई है।इसी कारण लॉक डाउन की कोरी अफ़वाह फैलाकर जमाखोरी अभी से शुरू होने की अटकलें लगाई जा रही है।
धनंजय कुमार नेताम
एसडीएम कांकेर
ने बताया की अभी तक ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली है।अगर जमाखोरी की जा रही है तो नियमनुसार कार्यवाही किया जाएगा।
विमल कुमार सिंह
ज़िला खाद्य सुरक्षा अधिकारी
ने बताया कि लॉकडाउन की कोरी अफवाह है।लेकिन कालाबाजारी हो रही है तो कड़ी कार्यवाही की जाएगी

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment