फेसबुक फ्रेंड बनकर 41 लाख रुपए की धोखाधड़ी करने वाला आरोपी इन्दौर से गिरफ्तार

चित्तौडग़ढ़ । दो युवकों का फेसबुक फ्रेंड बन कर श्रमिक कार्ड बना लोन दिलाने के नाम पर 41 लाख रुपये की धोखाधड़ी करने का मामला सामने आया है। इस मामले में कोतवाली निम्बाहेड़ा थाना पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया हैं। 8 हजार रुपए जमा कर 90 हजार पाने के फायदे के लालच में आकर एक के बाद एक करके फोनपे एप के जरिये 41 लाख रुपये ट्रांजेक्शन करते रहे युवक।
पुलिस अधीक्षक राजन दुष्यंत ने बताया कि 3 जनवरी को कोतवाली निम्बाहेडा थाने पर प्रार्थी चरलिया ब्राहमणान निवासी सुरेश चन्द्र कुमावत ने रिपोर्ट देकर कहा कि मेरा व मेरे दोस्त कासोद दरवाजा निम्बाहेडा निवासी भरत कुमावत का परिचय आज से करीब 11 माह पूर्व फेसबुक फ्रेण्ड कुमारिया खेडी जिला धार (एम.पी.) हाल रणजीत हनुमान इन्दौर (एम.पी.) निवासी अर्जुन कुमावत से हुआ। उसके बाद हमारी अर्जुन कुमावत से मोबाईल पर बातचीत होने लगी। कुछ समय बाद अर्जुन कुमावत हमारे से मिलने के लिये बस स्टेण्ड निम्बाहेडा पर आया। अर्जुन कुमावत ने हमें बताया कि तुम लोग मेरे कुमावत समाज के होने से मैं तुम लोगों का श्रमिक कार्ड बनावाकर श्रमिक लोन दिलवा दुगा। जिसमें एक व्यक्ति का 8000 रू खर्चा आयेगा। उसके बाद प्रत्येक व्यक्ति के खाते में 90000 रूपये आयेगे।
ये रुपए हमने अर्जुन कुमावत को फोन पे किये। मेने व मेरे दोस्त भरत कुमावत ने मिलकर फर्दन फर्दन करके अर्जुन कुमावत को अब तक करीब 41 लाख रूपये ट्रांसफर कर दिये है। अर्जुन कुमावत अभी भी हमें फोन करके कहता हैं कि यदि तुम लोगों ने मेरे खाते में 10, 20, 50 हजार रूपये ओर नही डलवाये तो तुम्हारे सारे रूपये डुब जायेगे। हमारे द्वारा दिये गये रुपए डूब जाने के डर से हम ओर रुपए डलवाते रहे।
अर्जुन कुमावत ने हमारे साथ धोखाधड़ी करके हमारे सारे रूपये हड़प लिये है। अर्जुन कुमावत हमारे को रूपये देने से मना कर रहा है। रिपोर्ट पर थाना कोतवाली निम्बाहेडा में धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज कर जांच एएसआई सूरज कुमार के जिम्मे की गई।
मामले की गम्भीरता को देखते हुए टीम गठित कर मुल्जिम को शीघ्र गिरफ्तार करने के निर्देश दिए गये। थानाधिकारी कोतवाली निम्बाहेडा फूलचन्द टेलर पु.नि. द्वारा जांच अधिकारी एएसआई सूरज कुमार के नेतृत्व में कानि. अमित, जगदीश धाकड, सुमित कुमार की टीम गठित की गई। उक्त टीम द्वारा आसूचना संकलन कर 8 जनवरी को आरोपी अर्जुन कुमावत को इन्दौर से डिटेन किया गया। आरोपी अर्जुन कुमावत से मामले में पुछताछ की गई।
आरोपी के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य मिलने पर उक्त धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार कर न्यायालय मे पेश कर पुलिस रिमाण्ड प्राप्त किया गया है। आरोपी अर्जुन कुमावत से प्रार्थी से लिये रूपयों की बरामदगी के सम्बन्ध में अनुसंधान जारी है।

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment