जोशीमठ में होटलों को गिराया जाना शुरू, अमित शाह ने बुलाई हाईलेवल बैठक

चमोली । असंख्य भवनों में आई दरारों के बाद असुरक्षित इमारतों को गिराने का सिलसिला शुरू हो गया है। अब तक कुल 678 भवन चिह्नित किए जा चुके हैं। सीबीआरआई की टीम ने मलारी इन और माउंट व्यू होटल का सर्वे किया था। आज बृहस्पतिवार को होटल माउंट व्यू को ढहाया जा रहा है। इस बीच उत्तराखंड आपदा प्रबंधन के सचिन रंजीत कुमार सिन्हा ने बताया कि वहां एसडीआरएफ की 8 टीमें तैनात हैं। इलेक्ट्रिक केबल और पोल्स की सुरक्षा के लिए 2.14 करोड़ रुपये दिए गए हैं। वहां एनडीआरएफ की दो टीमें भी मौजूद हैं और एक टीम देरशाम पहुंचेगी। आर्मी और आपदा प्रबंधन के हेलिकॉप्टर को भी स्टैंड बाय पर रखा गया है।
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जोशीमठ के हालातों को देखते हुए गुरुवार को एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई। बैठक में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, आरके सिंह, भूपेंद्र यादव और गजेंद्र शेखावत सहित नॉर्थ और साउथ ब्लॉक के अधिकारी भी मौजूद रहे। बता दें कि इसके पहले भी बुधवार को अमित शाह ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से टेलीफोन पर बातचीत के जरिए जोशीमठ के हालात जाने थे। केंद्रित गृह मंत्रालय और अमित शाह जोशीमठ पर लगातार निगरानी बनाए हुए हैं। इसी कड़ी में अमित शाह ने गुरुवार को जोशीमठ संकट को लेकर उच्चस्तरीय बैठक की। बैठक में गृह सचिव अजय भल्ला, बीआरओ और एनडीआरएफ के अधिकारी भी मौजूद रहे। सूत्रों के मुताबिक इस बैठक में जोशीमठ में हो रहे राहत और बचाव कार्यों की जानकारी साझा की गई है। इसके अलावा आगे की रणनीति पर भी चर्चा की गई।

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment