31 जनवरी से 6 अप्रैल तक चलेगा संसद सत्र, पीएम मोदी ने बजट के लिए अर्थशास्त्रियों से लिए सुझाव

नई दिल्ली। संसद का बजट सत्र 31 जनवरी से शुरू होकर 6 अप्रैल तक चलेगा। उक्त जानकारी केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने ट्वीट करके दी। सामान्य अवकाश के साथ 66 दिनों में कुल 27 बैठकें आयोजित की जाएंगी। संसद का अवकाश 14 फरवरी से 12 मार्च तक रहेगा। जोशी ने कहा कि अमृत काल के बीच राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव, केंद्रीय बजट और अन्य मदों पर चर्चा के लिए उत्सुक हूं। उन्होंने बताया कि बजट सत्र 2023 के दौरान अवकाश 14 फरवरी से 12 मार्च तक रहेगा, ताकि विभाग संबंधित संसदीय स्थायी समितियां अनुदान मांगों की जांच कर सकें और अपने मंत्रालयों और विभागों से संबंधित रिपोर्ट तैयार कर सकें। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी को केंद्रीय बजट पेश करेंगी। बजट सत्र की शुरुआत राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू द्वारा संसद के सेंट्रल हॉल में लोकसभा और राज्यसभा की संयुक्त बैठक को संबोधित करने से होगी। पिछले साल जुलाई में राष्ट्रपति बनने के बाद से राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में यह पहला संबोधन होगा। इससे पहले एक खबर में कहा गया था कि बजट सत्र के पहले दिन दोनों सदनों में आर्थिक सर्वेक्षण भी पेश किया जाएगा। उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को नीति आयोग में अर्थशास्त्रियों के साथ बैठक की। इस बैठक में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी मौजूद रहीं। पीएम मोदी ने आगामी फरवरी में यूनियन बजट से पहले अर्थशास्त्रियों की राय और सुझाव लेने के साथ-साथ भारतीय अर्थव्यवस्था की स्थिति और इसकी चुनौतियों का आकलन किया।

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment