बीजू पटनायक का डकोटा विमान ओडिशा वापस लाया गया

भुवनेश्वर । ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री और दिग्गज नेता बीजू पटनायक द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले पसंदीदा डकोटा विमान को भुवनेश्वर हवाईअड्डे पर प्रदर्शन के लिए ओडिशा लाया गया। पुलिस एस्कॉर्ट के साथ, विमान के हिस्सों को तीन बड़े लॉरियों में लाया गया, यह बुधवार शाम भुवनेश्वर शहर पहुंची। दिग्गज नेता बीजू पटनायक द्वारा इस्तेमाल किए गए विमान की एक झलक पाने के लिए सैकड़ों लोग कोलकाता को भुवनेश्वर से जोडऩे वाले राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे खड़े नजर आए। हाईवे पर लोग विमान के साथ तस्वीरें क्लिक कराते नजर आए।

अधिकारियों ने कहा कि डकोटा (डीसी-3) वीटी-एयूआई विमान को फिर से जोड़ा जाएगा और फिर बीजू पटनायक अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे पर तैनात किया जाएगा। कोलकाता हवाई अड्डे ने एक ट्वीट में कहा, ओडिशा के पूर्व मुख्यमंत्री बीजू पटनायक द्वारा इस्तेमाल किया गया ऐतिहासिक डकोटा विमान, जो कोलकाता हवाई अड्डे पर तैनात था, आज ओडिशा सरकार को सौंप दिया गया है। इसे भुवनेश्वर हवाई अड्डे पर प्रदर्शित किया जाएगा।
यह विमान कलिंग एयरलाइंस का हिस्सा है, जिसकी स्थापना बीजू पटनायक ने की थी। एयरलाइंस के पास कोलकाता में अपने मुख्यालय में डकोटा सहित एक दर्जन विमान थे। इतिहासकार अनिल धीर के अनुसार, कलिंगा एयरलाइंस में सबसे ज्यादा 14 विमान थे, जिनमें से नौ दुर्घटनाग्रस्त हो गए जबकि एक इंडोनेशिया में है, दूसरा ओडिशा लाया गया। कलिंगा एयरलाइंस के बाकी तीन विमानों के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है।
विमान दशकों से नेताजी सुभाष बोस अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे, कोलकाता के एक परित्यक्त कोने में स्क्रैप के टुकड़े के रूप में उपेक्षित पड़ा हुआ था। विमान का वजन 8 टन से अधिक था और यह लगभग 64 फीट 8 इंच लंबा था। भुवनेश्वर में हवाईअड्डे पर पहुंचने के बाद टूटे हुए पुजरें को फिर से जोडऩे के लिए राज्य सरकार ने एक विशेष टीम को लगाया है। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) ने इस उद्देश्य के लिए हवाईअड्डे पर 1.1 एकड़ जमीन आवंटित की है।
पुरुषों के हॉकी विश्व कप के दौरान विंटेज डकोटा विमान टेम्पल सिटी पहुंचा। आगंतुकों, विशेषकर विदेशियों को प्रदर्शित करना राज्य के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment