केवायसी अपडेट करने के नाम पर लाखों की ठगी,अंतर्राज्यीय आरोपी गिरफ्तार

रायपुर । केवायसी अपडेट करने के नाम पर देशभर में लाखों रूपये की ठगी करने वाले अंतर्राज्यीय ठग सुनील कुमार मण्डल को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

मिली जानकारी के अनुसार अविनाश प्राईड रायपुर में रहने वाली उमा मिश्रा ने थाना कबीर नगर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि उसके मोबाईल नंबर में किसी अज्ञात मोबाईल नम्बर 87570-87202 धारका का फोन आया और उसने कहा कि आपके फोन-पे की केवाईसी नहीं हुई है, इसलिए कल आपके अकाउंट से 2200 रूपये कट जाएगा, यदि आपको 2200- रूपये नहीं कटवाना है तो जैसा मैं बताता हूं, आप करिये कुछ ही मिनट में आपका केवाईसी कंपलीट हो जाएगा, जिस पर उमा मिश्रा द्वारा हां कहने पर फोन करने वाले ने अपने सिनियर से आपकी कॉल कनेक्ट कर रहा हूं तथा कॉल काट कर दूसरे मोबाईल नंबर 9060185892 से उमा मिश्रा को कॉल किया, जिस पर उमा मिश्रा द्वारा अज्ञात मोबाईल नम्बर के धारक द्वारा फोन-पे में जाकर उसके बताए अनुसार प्रोसेस किया गया कुछ देर पश्चात् उसके द्वारा केवाईसी वेरिफिकेशन का मैसेज आया या नहीं पूछने पर प्रार्थिया द्वारा नहीं आया बताया गया, तो उसके द्वारा प्रार्थिया को एटीएम कार्ड को फोन-पे स्केनर से स्केन करने बोलने पर जिस पर प्रार्थिया द्वारा अपना एटीएम कार्ड स्कैन किया गया, स्कैन करते ही प्रार्थिया के स्टेट बैंक अकाउंट नंबर से लगातार पैसे कटने के मैसेज आने लगे प्रार्थिया द्वारा पूछने पर अज्ञात मोबाईल नम्बर के धारक ने कहा कि किसी टेक्नीकल एरर की वजह से पैसे कटने के मैसेज आ रहे हैं, आपके पैसे वापस आ जाएंगे एवं फोन मत काटिये, इसके बाद प्रार्थिया को कटे हुए पैसे वापस प्राप्त करने हेतु। एप डाउनलोड करने बोला जिस पर प्रार्थिया द्वारा एक एप डाऊनलोड करते ही उसके दूसरे अकाउंट नंबर 10080573891 से भी पैसे कटने शुरू हो गए एवं प्रार्थिया के दोनों खातो से कुल 2 लाख 95 हजार रूपये कट गये। इस प्रकार अज्ञात मोबाईल नम्बर के धारक द्वारा फोन-पे पर केवायसी अपडेट करने के नाम पर लाखों रूपये की ठगी की गई। जिस पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध थाना कबीर नगर में धारा 420, 201 भादवि. का अपराध पंजीबद्ध किया गया। मामले में वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में एण्टी क्राईम एण्ड साईबर यूनिट तथा थाना कबीर नगर पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा अज्ञात आरोपी की पतासाजी करना प्रारंभ किया गया। टीम के सदस्यों द्वारा घटना के संबंध में प्रार्थिया से विस्तृत पूछताछ किया गया। टीम के सदस्यों द्वारा जिन मोबाईल नंबरों से प्रार्थिया के मोबाईल फोन पर कॉल आया था, उन मोबाईल नंबरों का तकनीकी विश्लेषण करने के साथ ही जिन खातों में रकम स्थानांतरित किये गये थे, उन खातों के संबंध में भी संबंधित बैंकों से दस्तावेज व जानकारी प्राप्त की जाकर अज्ञात आरोपी को चिन्हांकित करने के प्रयास करते हुये ठगी हेतु आये मोबाईल नंबरों के साथ-साथ उन से संबंधित अन्य कई मोबाईल नंबरों तथा दस्तावेजो का लगातार विश्लेषण करते हुये अंतत: आरोपी को चिन्हांकित करने में सफलता मिली तथा आरोपी को झारखण्ड के गोड्डा में लोकेट किया गया। जिस पर टीम के सदस्यों को झारखण्ड रवाना किया गया। टीम के सदस्यों द्वारा गोड्डा (झारखण्ड) पहुंचकर लगातार कैम्प करते हुए आरोपी की पड़ताल करने पर यह सुनिश्चित हुआ कि आरोपी द्वारा बहुत ही सर्तकता से अपनी स्वयं की पहचान छिपाते हुये इस तरह की ठगी की वारदात को अंजाम दिया गया है। आरोपी द्वारा उपयोग किये गये मोबाईल नंबर फर्जी होने के साथ ही बैंक खातों के पते भी दूसरे स्थानों के थे। आरोपी द्वारा उन मोबाईल नंबरों एवं खातों का उपयोग सिर्फ और सिर्फ ठगी की वारदात को कारित करने के लिए किया गया था। झारखण्ड के गोड्डा में कैम्प कर रही टीम को तकनीकी विश्लेषण के आधार पर घटना में संलिप्त आरोपी सुनील कमार मण्डल के संबंध में सूचना प्राप्त हुई। जिस पर टीम के सदस्यों द्वारा आरोपी की पतासाजी करते हुये आरोपी सुनील कुमार मण्डल पिता रिंकू मण्डल उम्र 22 साल निवासी ग्राम डहरलंगी परसपानी थाना मुफ्फसील जिला गोड्डा झारखण्ड को गिरफ्तार करने में सफलता मिलीं। आरोपी से घटना के संबंध में कड़ाई से पूछताछ करने पर उसके द्वारा प्रार्थिया से लाखों रूपये की ठगी की उक्त घटना को कारित करने के अलावा देशभर में केवायसी. अपडेट करने के नाम पर अलग-अलग लोगों को अपना शिकार बनाते हुए लाखों रूपए की ठगी करना बताने के साथ ही ठगी की घटनाओं में प्रयुक्त एटीएम कार्ड, सिम एवं मोबाईल फोन को नष्ट करना बताया । आरोपी को गिरफ्तार कर कार्यवाही किया गया।

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment