यमराज जब टिकट काटते हैं तो ये नहीं देखते कि गाड़ी 8 करोड़ की है या 800 रुपए की सेकंड हैंड साइकिल

-जिंदगी बहुमूल्य है इसे मीनिंगफुल बनाना चाहिए: संजीव झा

-जब तक हम सिविक सेंस का पालन नहीं करेंगे, चाहे कितना भी झाड़ू लगा लें कचरा साफ नहीं हो सकता

-सड़क दुर्घटना एवं मौतों को कम करने हेतु शुरू किया गया है हिफाजत अभियान, संतोष सिंह

कोरबा । कोरबा जिले में दिनांक 11 जनवरी 2022 को 34 वाँ सड़क सुरक्षा सप्ताह प्रारंभ किया गया था, जिसका समापन 19 जनवरी 2022 को घंटाघर ओपन थिएटर में हुआ।कार्यक्रम के शुरुआत में विभिन्न स्कूल एवं महाविद्यालयों से आए विद्यार्थियों द्वारा नुक्कड़ नाटक के माध्यम से सुरक्षित तरीके से वाहन चलाने,सीटबेल्ट एवं हेलमेट धारण करने, ट्रैफिक सिग्नल, यातायात नियमों का पालन करने सहित विभिन्न प्रकार के यातायात संकेतकों का पालन करने के संबंध में जानकारी दिया गया, साथ ही सड़क दुर्घटनाओं से होने वाले नुकसान के बारे में जानकारी दी गई।कार्यक्रम में कलेक्टर कोरबा श्री संजीव झा मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे जिन्होंने कहा कि जीवन बहुमूल्य है, हमें जीवन का सदुपयोग करना चाहिए, सड़क पर चलते समय यातायात नियमों का पालन करना चाहिए साथ ही नियम का पालन करने हेतु सभी को प्रोत्साहित करना चाहिए । उन्होंने हाल ही में घटित सड़क दुर्घटनाओं के बारे में बताते हुए कहा की यदि नियमों का पालन किया जाता तो इन दुर्घटनाओं को रोका जा सकता था। उन्होंने कहा कि जिंदगी महत्वपूर्ण है, इसे मीनिंगफुल बनाना चाहिए । पिछले दिनों एक बड़े उद्योगपति के सड़क दुर्घटना में मृत्यु का उदाहरण देते हुए उन्होंने बताया कि वे 8 करोड़ रुपए से भी अधिक महंगी कार में चल रहे थे जिसमें सुरक्षा के सभी फीचर लगे हुए थे, उसके बावजूद भी उनकी मौत हो गई, क्योंकि उन्होंने सीटबेल्ट नहीं लगाया था । उन्होंने कहा कि सुरक्षा नियमों का पालन नहीं करने की स्थिति में दुर्घटना होती है तो मौत निश्चित है, यमराज ये नहीं देखते कि मृतक 8 करोड़ की कार में सवार है या 800 रुपए की सेकंड हैंड साइकिल में।उन्होंने अपील करते हुए कहा कि कोरबा पुलिस सामाजिक बुराइयों के विरुद्ध लगातार अभियान चला रही है, जिसमें सभी को बढ़.चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए जिस तरह अवैध नशे के विरुद्ध निजात अभियान चलाया गया, जिससे नशा करने वालों में सुधार हो रहा है, सड़क दुर्घटनाओं का एक महत्वपूर्ण कारण नशे का सेवन करना पाया गया है । निजात अभियान का ही दूसरा स्वरूप हिफाजत अभियान है जिसे पुलिस अधीक्षक ने प्रारंभ किया है । पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह ने कहा कि बढ़ती हुई सड़क दुर्घटनाएं चिंता का विषय है,कानूनों का पालन एवं आम जनता के सहयोग से ही इसे कम किया जा सकता है । शासन के द्वारा मोटर व्हीकल एक्ट के नियमों में संशोधन करते हुए जुर्माना भी बढ़ा दिए गए ताकि जनता नियमों का पालन करने की ओर गंभीर हो, बावजूद भी दुर्घटनाओं में कमी नहीं आई। स्वयं के व्यवहार और जन जागरूकता से ही ऐसे मामलों में कमी आएगी । चाहे हम कितना भी झाड़ू लगा लें, किंतु जब तक सिविक सेंस नहीं होगा तब तक सड़क साफ नहीं हो सकता। सड़क दुर्घटनाओं को रोकने हेतु कार्यवाही एवं जागरूकता अभियान हिफाजत शुरू किया गया है, जिसमें सभी को बढ़.चढ़कर अपनी सहभागिता निभाना चाहिए । हमारा उद्देश्य है कि सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों को कम से कम किया जा सके। सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान विभिन्न स्कूलों एवं कॉलेजों में निबंध लेखनए रंगोली, चित्रकारी, नुक्कड़ नाटक जैसे विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएं आयोजित की गई, जिनमें विजेता एवं सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। कार्यक्रम में आए सभी अतिथियों को स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया।इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में श्री संजीव झा कलेक्टर कोरबा, विशिष्ट अतिथि के रुप में श्री संतोष सिंह पुलिस अधीक्षक कोरबा, नगर निगम आयुक्त प्रभाकर पांडेय, डॉक्टर केशरी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, श्री एसआर कुर्रे जिला परिवहन अधिकारी, श्री कमलेश यादव संरक्षक प्रेस क्लब, श्री राजेंद्र जायसवाल पूर्व अध्यक्ष प्रेस क्लब, श्री दिनेश राज सचिव प्रेस क्लब, डीएसपी यातायात श्री शिवचरण सिंह परिहार, सभी थानों के थाना/चौकी प्रभारी सहित विभिन्न स्कूलों से आए हुए छात्र छात्राएं शिक्षक एवं गणमान्य नागरिक सहित पुलिस अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment