खेलों में हारजीत होते रहती है, निरंतर अभ्यास से खिलाड़ी बनता है सर्वश्रेष्ठ – पटेल

-खेल महोत्सव के आयोजन से राष्ट्रीय स्तर पर खिलाड़ी करता है प्रदर्शन – सुनील सोनी
रायपुर। प्रदेश में राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित खेल महोत्सव में रायपुर प्रवास पर आए अंतर्राष्ट्रीय कुश्ती खिलाड़ी कृपा शंकर पटेल ने प्रेसक्लब रायपुर में आयोजित रूबरू कार्यक्रम में बताया कि खेल खेलने से ही खिलाड़ी के जीवन में बड़ा परिवर्तन आता है। खेल में हार-जीत होना सामान्य बात है। निरंतर अभ्यास से ही खिलाड़ी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर अपने प्रदेश एवं देश का नाम विश्वस्तर पर रौशन करता है। पटेल ने फिल्म दंगल में बबीता फोगाट एवं गीता फोगाट पर केन्द्रित फिल्म में मुख्य सलाहकार की भूमिका अदा की। रूबरू कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रायपुर के सांसद सुनील सोनी ने कहा कि पहली बार खेल महोत्सव का आयोजन रायपुर में हो रहा है। वे आगे प्रयास करेंगे कि अगला खेल महोत्सव कम से कम 7 दिन का हो। खिलाडिय़ों में नशीले प्रदार्थों के उपयोग पर कड़ा प्रतिबंध लगाने संबंधी प्रश्न पर पटेल ने ऐसे लोगों का विरोध करते हुए आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि पहलवानों के मुख्य खेल में भाग लेने के पहले अनेकों बार टेस्ट होते हैं। महिला खिलाडिय़ों के यौन शोषण करने वाले कोचों को दोषी पाए जाने पर पटेल ने उन्हें खेल जगत से बाहर कर रास्ता दिखाने की राय दी। रूबरू में सोनी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन करने वालों में संजय शर्मा, नीता डुमरे, सबा अंजुम की राह पर ही चलते हुए खिलाड़ी छत्तीसगढ़ का नाम रौशन करेंगे। सीमित संसाधनों के बावजूद भी खिलाडिय़ों का उत्साह बरबरार रहना पटेल के अनुसार उनकी खेलों के प्रति निष्ठा प्रकट करता है। रूबरू में उपस्थित कृपा शंकर पटेल, संजय शर्मा, सांसद सुनील सोनी का प्रेसक्लब अध्यक्ष दामू आम्बेडारे सहित अनेक पत्रकारों ने पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया।

mithlabra
Author: mithlabra

Leave a Comment